दिल्ली दंगा मामला: देवबद से बुलाये गए थे गुंडे

दिल्ली दंगा: देवबद से बुलाये गए थे गुंडे 

दिल्ली में हुए दंगों  ने जहाँ पूरा इतिहास ही बदल दिया क्यों की इस दिल्ली ने 1984 के बाद पहली बार इस तरह के दंगे देखे थे | और क्यों की इस दंगे को राजनीतिक  पार्टियों का पूरा सहयोग था तो नरसंहार भी दबाके हुआ जिसमे 50 से अधिक तो सरकारी आंकड़ों के हिसाब से मरे पाए है पर न  नालों और यमुना जी को भेट चढ़ गए ये कोई नहीं बता पाएगा |

AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर UAPA के तहत मामला दर्ज किया

आपको याद होगा की इन्ही दंगो में एक IB के अधिकारी अंकित को अपनी जान गवानी पड़ी थी | उसकी मौत के लिए उनके परिवार के सदस्यों में वहाँ के स्थानीय पार्सद ताहिर हुसैन पर इल्ज़ाम  लगाया था और तब ताहिर हुसैन गायब हो गया था जो की बाद पे दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन को चांद बाग इलाके से गिरफ्तार किया गया था

ताहिर हुसैन पर आईबी के अधिकारी की कथित हत्या के मामले में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 365 (अपहरण), 302 (हत्या), 201 (साक्ष्य मिटाना या झूठी सूचना देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है।अंकित शर्मा के पिता की शिकायत पर पुलिस ने हुसैन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की।

आम आदमी पार्टी ने ताहिर हुसैन को हिंसा में शामिल होने के आरोप में निलंबित कर दिया था, जिसमें कम से कम 53 लोग मारे गए थे और लगभग 200 लोग घायल हो गए थे।अब उस निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर UAPA के तहत मामला दर्ज किया गया स्तफाबाद में कम से कम 3 से 4 लोगों ने चांद बाग हिंसा के दौरान आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन को छुपाने  में मदद की थी, दिल्ली अपराध शाखा के सूत्रों ने  बताया कि ये लोग अब जांच संगठन के रडार पर आ गए हैं। दिल्ली क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने कहा कि उन्हें जल्द ही पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा

देवबद से बुलाये गए थे गुंडे:

दिल्ली पुलिस की इन्वेस्टीगेशन में ये बात सामने आयी की शिव विहार में स्थित राजधानी पब्लिक स्कूल के संचालक फैजल फारुख  ने उत्तर प्रदेश के देवबंद से दंगाइयों को बुलाया था जिन्होंने दिल्ली और आस-पास के एरिया में दबा के उत्पात मचाया था | ये सभी बात फैजल और उनके 11 सहयोगियों से पूछताछ और जांच में सामने आयी है | जिनके बाद अब दिल्ली की क्राइम ब्रांच अब इसे एक अलग तह से देखने लगी है

आपको बता दे की जब 26 फरवरी को क्राइम ब्रांच को स्थानीय लोगो में बताया की स्कूल के उप्पर से दँगाईओ ने हमला किया था तो उन्होंने स्कूल का निरिक्छण किया था  जब पुलिस स्कूल में गयी थी तो उन्हें  छत  से बड़ी गुलेल ,ईंट -पत्थर ,तेजाब ,और पेट्रोल बम मिले थे |

ये सब लेने के बाद ही पुलिस ने 8 मार्च को फैजल को पकड़ा था उससे पूछताछ के बाद सरुख को पकड़ा और उसके 10 अन्य लोगो को भी ग्रिफ्तार किया था | अभी सभी तिहाड़ की हवा खा रहे है|

बताया जा रहा फैजल के कई रिस्तेदार दिल्ली और गौतमबुद्ध नगर प्रशासन मैं है देवबंद का लिंक मिलने पर सम्बंधित एक एसीपी ने स्कूल के संचालक के साथ मिल के मामले की लीपापोती भी की है जब इसका पता क्राइम ब्राँच के आला अधिकारियो को मिली तो क्राइम ब्रांच को मामले की जांच कर धरपकड़ के लिए फिर से काम पर लगाया है | link

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के दो छात्रों को गिरफ्तार किया

दिल्ली के भजनपुरा के रहने वाले एक दानिश को बाहर से लोगों को लाने का काम दिया गया था।

प्राथमिकी में दावा किया गया है कि यदि यह साजिश “पूरी तरह से जांच” है, तो अधिनियम में शामिल अन्य लोगों की भी पहचान की जाएगी। अरविंद कुमार ने अपनी शिकायत में यह भी दावा किया है कि उन्होंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को इस जानकारी के बारे में बताया है जो उन्हें अपने स्रोतों से प्राप्त हुआ है।

इस बीच, दिल्ली पुलिस ने जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के दो छात्रों को गिरफ्तार किया है और उनके खिलाफ विवादास्पद गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम का नारा दिया है। पुलिस सूत्र का कहना है कि उमर खालिद से जल्द ही पूछताछ की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *