इलेक्ट्रॉनिक कचरा

इलेक्ट्रॉनिक कचरा(Electronic wasteage)

इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के बढ़ते उपयोग के कारण जहां इलेक्ट्रॉनिक कचरा बढ़ रहा है, वहीं इसका सही निष्पादन  होने के कारण यह जानलेवा भी साबित हो रहा है।  

 

इलेक्ट्रॉनिक कचरा निष्पादन करने वाले कर्मचारी बीमार हो  रहे  और अकाल मृय्तु के  शिकार  हो है  चंद रूपए की  मजदूरी  के लिए आपनी आमूल जिन्दगी मिटा  दे रहे है | पिचले कई वर्षो में कुछ राजनेतिक लोभ और सस्ते उपकरण देने के लिए सब कूडो और हानिकारक तरंगे छोड़ने वाले इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों को  बेचा गया 

औद्योगिक क्षेत्र में नब्बे फीसदी से ज्यादा कचरे का निष्पादन शहरी झुग्गी बस्तियों के लोगों द्वारा किया जाता है, जिनमें बच्चे भी होते हैं, जिन्हें हानिकारक तत्वों के बारे में पता नहीं होता, इसलिए यह उनके साथ औरों के लिए भी घातक साबित होता है।

 

About the Author

Bajrang

No Comments

Leave a Reply